डिजिटल डेस्क, कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को बीजेपी नेताओं पर राज्य में हुई हिंसा को भड़काने का आरोप लगाया। बता दें कि बंगाल चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही राज्य में हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान बीजेपी और टीएमसी दोनों ही दलों के कार्यकर्ताओं की हत्या की खबरें सामने आई थीं।

ममता बनर्जी ने कहा, बीजेपी के नेता इधर-उधर घूम रहे हैं। वे लोगों को भड़का रहे हैं। सीएम के रूप में शपथ लेने के 24 घंटे भी नहीं बीते हैं और वे चिट्ठियां भेज रहे हैं। सेंट्रल टीम पहुंचने लगी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि भाजपा ने अभी तक आम लोगों के जनादेश को स्वीकार नहीं किया है। मैं बीजेपी के नेताओं से जनादेश स्वीकार करने का अनुरोध करती हूं। उन्होंने कहा, कृपया हमें COVID स्थिति पर ध्यान केंद्रित करने दें। हम किसी झगड़े में शामिल नहीं होना चाहते।

ममता ने कहा, ‘एक टीम आई थी। उन्होंने चाय पी और वापस चले गए जबकि कोविड चालू है। अब अगर मंत्री आते हैं तो उन्हें स्पेशल फ्लाइट्स के लिए भी आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लाना पड़ेगा।’ उन्होंने कहा कि नियम सभी के लिए समान होना चाहिए। बीजेपी नेताओं के बार-बार यहां आने के कारण प्रदेश में COVID बढ़ रहा है।

ममता ने कहा कि हिंसा ने अब तक 16 लोगों की जान ले ली है। उनके परिवारों के लिए 2-2 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार 10 अप्रैल को कूच बिहार के शीतलकुची इलाके में CAPF फायरिंग में मारे गए सभी पांच व्यक्तियों में से प्रत्येक के परिवार के एक सदस्य को होमगार्ड की नौकरी प्रदान करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here