Photo:FILE PHOTO

 resurgence of COVID-19 Rupee slumps 52 paise against US dollar 


नई दिल्‍ली। देश में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों से अर्थव्यवस्था को नुकसान की आशंका के चलते रुपया सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 52 पैसे टूटकर 74.87 के स्तर पर आ गया। इसके अलावा घरेलू शेयर बाजार में भारी बिकवाली ने भी निवेशकों की धारणा को प्रभावित किया।

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में घरेलू इकाई अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 74.80 पर खुली और फिर आगे गिरकर 74.87 पर पहुंच गई, जो पिछले बंद के मुकाबले 52 पैसे की गिरावट दर्शाता है। रुपया शुक्रवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 74.35 पर बंद हुआ था। इस बीच ज्यादातर एशियाई मुद्राओं में भी कमजोरी का रुख था। छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.10 प्रतिशत बढ़कर 91.64 पर पहुंच गया।

शेयर बाजार के अनंतिम आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को सकल आधार पर 437.51 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में एक दिन में कोरोना वायरस के 2,73,810 नए मामने सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले 1,50,61,919 पर पहुंच गए हैं। इसके अलावा 1,619 संक्रमितों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 1,78,769 हो गई।

सेंसेक्स 1,300 अंक गिरा, निफ्टी 14,300 से नीचे

सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान शेयर बाजारों में चौतरफा बिकवाली देखी गई और प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स में 1,300 अंकों से अधिक की गिरावट आई। इस दौरान 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक 1,318.21 अंक या 2.70 फीसदी की गिरावट के साथ 47,513.2 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह एनएसई निफ्टी 394.90 अंक या 2.70 प्रतिशत टूटकर 14,222.95 पर आ गया। सेंसेक्स के सभी शेयर लाल रंग में थे और बजाज ऑटो में सबसे अधिक पांच प्रतिशत की गिरावट हुई।

पिछले सत्र में सेंसेक्स 28.35 अंक या 0.06 प्रतिशत की तेजी के साथ 48,832.03 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 36.40 अंक या 0.25 प्रतिशत बढ़कर 14,617.85 पर रहा। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.49 प्रतिशत की गिरावट के साथ 66.44 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।

व्‍यापारियों ने की Lockdown की घोषणा, चांदनी चौक सहित सभी प्रमुख बाजार रहेंगे 25 अप्रैल तक बंद

Covid-19 की दूसरी लहर है ज्‍यादा संक्रामक, मगर घातक है कम

कोरोना वायरस: मांग पूरी करने के लिए सरकार ने उद्योगों को ऑक्सीजन आपूर्ति पर प्रतिबंध लगाया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here