डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह असम में अपना चुनावी दौरे के कार्यक्रमों में कटौती कर दिल्ली लौट आए हैं। मंगलवार को असम विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण से पहले, शाह को सरभोग, बभनीपुर और जलुकबाड़ी में तीन चुनावी रैलियों को संबोधित करना था, लेकिन वे केवल बारपेटा जिले के सरभोग में ही चुनावी सभा में भाग ले सके।

पूर्वोत्तर क्षेत्र के केंद्रीय विकास मंत्री और असम में चुनावों के लिए भाजपा के सह-प्रभारी, जितेंद्र सिंह ने ट्वीट किया, सरभोग में गृहमंत्री की रविवार की पहली असम रैली। इससे पहले उन्होंने अपनी यात्रा को छोटा कर दिया है और दो रैलियों में वह भाग नहीं लेंगे। वह छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले के कारण दिल्ली लौट आए हैं। सभास्थल पर समाज के विभिन्न धड़ों से हजारों की संख्या में लोग पहुंचे।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हो गए हैं। करीब 15 नक्सलियों के भी मारे जाने की खबर है। दरअसल, नक्सली कमांडर हिडमा के छिपे होने की जानकारी सुरक्षाबलों को मिली थी। जिसके बाद शुक्रवार शाम को सुरक्षाबलों ने बीजापुर और सुकमा बॉर्डर पर पड़ने वाले जोनागुडा इलाके में ऑपरेशन शुरू किया। लेकिन तभी नक्सलियों ने सुरक्षाबलों को तीन तरफ से घरकर गोलियां चलानी शुरू कर दीं।

नक्सलियों ने बुलेट से, नुकीले हथियारों से और देसी रॉकेट लॉन्चर से हमला किया। इस हमले में 200 से 300 नक्सली शामिल थे। जवानों के शहीद होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। पीएम ने कहा, मेरी संवेदनाएं छत्तीसगढ़ में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ हैं। वीर शहीदों के बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here