Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

16 घंटे पहलेलेखक: न्यूयॉर्क से मोहम्मद अली

  • कॉपी लिंक

न्यूयॉर्क को चलाने वाली सिटी काउंसिल के मेंबर चुनाव में पहली बार इंडियन अमेरिकन का दबदबा बढ़ा है। इस चुनाव में 10 भारतीय मूल के अमेरिकी खड़े हैं। (फाइल फोटो)

  • बाइडेन ने 56 इंडियन अमेरिकन को अपनी प्रशासनिक टीम में जगह दी है

पिछले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन मंगल ग्रह पर लैंड करने वाले रोवर के ऐतिहासिक मार्स मिशन के बाद नासा के वैज्ञानिकों को संबोधित कर रहे थे। नासा के इस मिशन के गाइडेंस, नेविगेशन और कंट्रोल ऑपरेशन को भारतीय मूल की स्वाति मोहन लीड कर रही थीं। बाइडेन ने कहा इंडियन अमेरिकी आज अमेरिका में नेतृत्वकारी भूमिका में हैं। बाइडेन ने 56 इंडियन अमेरिकन को अपनी प्रशासनिक टीम में जगह दी है।

अब इंडियन अमेरिकन वहां राज्यों में भी अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराने लगे हैं। ताजा उदाहरण है न्यूयॉर्क को चलाने वाली सिटी काउंसिल का मेंबर चुनाव। पहली बार इन सिटी काउंसिल चुनावों में भी इंडियन अमेरिकन का दबदबा बढ़ा है। काउंसिल मेंबर चुनाव में इस बार 16 दक्षिण एशियाई उम्मीदार हैं। पहली बार 10 भारतीय मूल के अमेरिकी इस चुनाव में खड़े हैं।

16 एशियाई उम्मीदवार, 10 भारतीय; सभी डेमोक्रेटिक पार्टी से

टैक्सी ड्राइवर की बेटी हैं 26 साल की जसलीन​​​​

जसलीन कौर एक टैक्सी ड्राइवर और ग्रॉसरी स्टोर वर्कर की बेटी हैं। अगर वह जीतती हैं तो पहली अश्वेत व्यक्ति और महिला होंगी। टैक्सी वालों के कर्ज संकट से प्रभावित होकर कौर चुनाव मैदान में उतरी हैं।

अप्रवासी की बेटी और शिक्षक हैं फेलिसिया

​​​​​फेलिसिया सिंह एक अप्रवासी वर्किंग क्लास परिवार की बेटी हैं। पेशे से शिक्षक हैं। फेलिसिया कहती हैं हमारे परिवार जैसे लोग शहर को बहुत कुछ देते हैं लेकिन उनको रिटर्न बहुत कम मिलता है। मैं उस पर काम करुंगी।

संजीव जिंदल 2003 में अमेरिका गए थे

भारत से इंजीनियरिंग किए संजीव जिंदल 2003 में अमेरिका पहुंचे थे। 10 साल तक वे संघर्ष करते रहे। संजीव कहते हैं वे स्मॉल बिजनेस, पब्लिक सेफ्टी, हेल्थ सिस्टम और अप्रवासियों के लिए काम करेंगे।

सूरज पर्यावरण सलाहकार फर्म के डायरेक्टर

सूरज 1998 में पैरासाइकोलॉजी में समर स्टडी प्रोग्राम के तहत न्यूयॉर्क आए थे। अभी वे एक पर्यावरण कंसल्टिंग फर्म के डायरेक्टर हैं। वे कहते हैं हमारे इलाके का प्रतिनिधित्व अप्रवासी के पास ही होना चाहिए।

न्यूयॉर्क सिटी काउंसिल चुनाव: बांग्लादेश मूल के पांच उम्मीदवार और एक पाकिस्तानी

  • न्यूयॉर्क में 51 जिलों के लिए 22 जून को चुनाव होंगे। नामांकन की लास्ट डेट 25 मार्च थी। 4 साल का कार्यकाल होता है।
  • भारतीय न्यूयॉर्क में सबसे बड़ा और तेजी से बढ़ता अप्रवासी समुदाय है। यहां 7 लाख से ज्यादा भारतीय हैं।
  • डेमोक्रेटिक पार्टी ने इन सभी उम्मीदवारों को टिकट दिया है। ज्यादातर उम्मीदवार पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। ​​​​​​​
  • बांग्लादेश मूल के 5 अमेरिकी भी चुनाव मैदान में हैं। वहीं, पाकिस्तानी मूल की एक मात्र प्रत्याशी फातिमा लड़ रही हैं। ​​​​​​​

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here