Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण से जूझ रहे आर माधवन फिलहाल बहुत खुश हैं, क्योंकि उनकी डायरेक्टोरियल डेब्यू फिल्म ‘रॉकेट्री: द नम्बी इफैक्ट’ का दमदार ट्रेलर रिलीज हो गया है। यह कहानी है इसरो के ऐसे रॉकेट साइंटिस्ट की जिस पर देशद्रोह का आरोप लगा। ट्रेलर की शुरुआत शाहरुख खान से होती है।

ये है फिल्म की कहानी
रॉकेट साइंटिस्ट नम्बी नारायणन ऐसा नाम हैं, जिन पर दूसरे देशों के लिए जासूसी करने के आरोप लगे थे। उन्हें पुलिस ने अरेस्ट भी किया था। लेकिन उन पर लगे ये आरोप झूठे साबित हुए। 1996 में CBI ने उन्हें सभी आरोपों से बरी कर दिया और 1998 में सुप्रीम कोर्ट ने भी नम्बी नारायणन को ‘नॉट गिल्टी’ करार दिया था। इसके बाद उनके काम को सम्मान देने के लिए 2019 में पद्म भूषण जैसे नागरिक सम्मान से नवाजा गया।

ट्रेलर और माधवन का ट्रांसफॉर्मेशन सब दमदार
इसके पहले फिल्म के टीजर में दिखाया गया था कि नम्बी का रोल निभा रहे माधवन कहते हैं- मेरा नाम नम्बी नारायणन है, मैंने रॉकेट्री में 35 साल गुजारे और जेल में 50 दिन। उन 50 दिनों की जो कीमत मेरे देश ने चुकाई ये कहानी उसकी है, मेरी नहीं। गौरतलब है कि फिल्म में मिशन मार्स की परिकल्पना से लेकर नम्बी के जेल के दिनों की हकीकत दिखाई गई है।

हालांकि फिल्म की रिलीज डेट के बारे में ट्रेलर में कोई डीटेल नहीं दी गई है। लेकिन यह इसी साल समर सीजन में रिलीज होगी। रॉकेट्री द नम्बी इफेक्ट पांच भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, तेलुगु और कन्नड़ में रिलीज की जाएगी। आर माधवन के अलावा सिमरन, रजित कपूर भी अहम रोल में नजर आएं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here