डिजिटल डेस्क, कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में मतदान से पहले चुनाव आयोग ने नंदीग्राम में नई पाबंदियां लागू की हैं। चुनाव आयोग ने मतदान से पहले यहां बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किए हैं और हेलीकॉप्टर से निगरानी करने की व्यवस्था की है। साथ ही वोट देने के लिए जो योग्य नहीं होंगे उनके वोटिंग बूथ के नजदीक आने पर मनाही होगी।

नंदीग्राम में चुनावी मुक़ाबला बेहद दिलचस्प माना जा रहा है। यहां से मौजूदा मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की ममता बनर्जी और कभी उनके साथी रहे शुभेन्दु अधिकारी के बीच मुकाबला है। शुभेन्दु अधिकारी ने हाल में तृणमूल कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था।

हाल में महीनों में यहां हिंसा की कई घटनाएं हुई हैं और पार्टी के कई कार्यकर्ताओं की मौत हुई है। चुनाव आयोग का कहना है कि लोग भयमुक्त माहौल में वोट करें यही उनका उद्देश्य है। पश्चिम बंगाल में केंद्र की सत्तारूढ़ बीजेपी, पश्चिम बंगाल में दस साल से शासन कर रही तृणमूल कांग्रेस को सीधे-सीधे टक्कर दे रही है।

बीजेपी ने यहां चुनाव प्रचार में अपना पूरा जोर लगाया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह समेत कई केंद्रीय के कई मंत्रियों ने यहां चुनावी रैलियां की हैं। वहीं, तीसरी बार सरकार बनाने की उम्मीद से मैदान में उतरी ममता बनर्जी ने पैर टूटने के बावजूद ताबड़तोड़ रैलियां की हैं। 34 साल तक सत्ता में रहा लेफ्ट मोर्चा भी कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव में उतर रहा है।

एक अप्रैल को 24 परगना, बांकुड़ा, मिदनापुर समेत पूर्वी मिदनापुर की 30 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here