• Hindi News
  • International
  • Villagers Living Along The Swaze Canal Hope; Ship Have Goods Like The TV fridge Which They Will Get

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

20 घंटे पहलेलेखक: विवियन यी

  • कॉपी लिंक

डग बोट की मदद से शिप को 100 फीट खिसकाने में सफलता मिली। इस दौरान दोनों ओर खड़े जहाजों ने हॉर्न बजाकर खुशी का इजहार किया।

  • शिप के कारण दुनिया में हर दिन 73 हजार करोड़ रुपए का नुकसान
  • छठे दिन हाथ लगी सफलता, डग बोट की मदद से 100 फीट खिसकाया गया शिप

मिस्र की स्वेज नहर में फंसे 400 मीटर लंबे कंटेनर शिप के कारण दुनिया में हर दिन 73 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है। उसे निकालने के लिए बड़ी-बड़ी मशीनें मौके पर पहुंच रही हैं। इन्हें देखने के लिए नहर किनारे बसे मैन्शेट रुगोला गांव में जबर्दस्त रोमांच है।

करीब 5000 की आबादी वाले इस गांव के लोगों को लगता है कि शिप में टीवी-फ्रीज, एसी, पंखे और वॉशिंग मशीन जैसा इलेक्ट्रिक सामान लदा है। उन्हें उम्मीद है कि शिप को निकालने के लिए उसे खाली करना पड़ेगा। इसके बाद टीवी-फ्रिज जैसा सामान वहीं छोड़ दिया जाएगा, जो उन्हें मुफ्त मिल जाएगा। नहर किनारे खड़ी 65 साल की उम्म गाफर हर दिन शिप को देखने पहुंचती हैं और घंटों उसे देखते हुए बिताती हैं। वे कहती हैं- ‘आज तक यहां इतनी बड़ी मशीनें नहीं पहुंची हैं। इसलिए उन्हें देखने आती हूं।’

दूसरी ओर, शिप को निकालने की भरपूर कोशिश की जा रही हैं, क्योंकि नहर के दोनों ओर 325 से ज्यादा जहाज निकलने की राह देख रहे हैं। उन पर हजारों जानवर और कच्चा माल लदा है। हालांकि, छठे दिन डग बोट की मदद से शिप को 100 फीट खिसकाने में सफलता मिली।

इस दौरान दोनों ओर खड़े जहाजों ने हॉर्न बजाकर खुशी का इजहार किया। वहीं, जहाज के मालिकाना हक वाली कंपनी शोइ किसेन ने कहा कि अगर जहाज को बाहर निकालने के प्रयास विफल हो जाते हैं तो वह उसके कंटेनरों को हटाने पर विचार करेगी।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here