Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाॅशिंगटन11 घंटे पहलेलेखक: एरिक स्मिथ, हेलेन कूपन

  • कॉपी लिंक

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने मिलिट्री कमांड्स के प्रमुख के तौर पर दो महिलाओं के नाम सीनेट की मंजूरी के लिए भेजे हैं, महिला कमांडरों के नाम हैं – जनरल जैकलीन ओवोस्ट और जनरल लॉरा रिचर्डसन।

  • अमेरिका में एक और इतिहास बनेगा

अमेरिका में एक और इतिहास बनने वाला है। अभी कुछ महीने पहले ही कमला हैरिस अमेरिकी उपराष्ट्रपति के पद पर पहुंचने वाली पहली महिला बनीं थीं। अब राष्ट्रपति जो बाइडेन ने मिलिट्री कमांड्स के प्रमुख के तौर पर दो महिलाओं के नाम सीनेट की मंजूरी के लिए भेजे हैं।

महिला कमांडरों के नाम हैं – जनरल जैकलीन ओवोस्ट और जनरल लॉरा रिचर्डसन। सीनेट की मंजूरी मिलने पर एक ही वक्त पर दाे महिलाएं अमेरिकी सेना में बड़े ओहदे संभालेंगी। अभी सिर्फ लोरी रॉबिनसन ने यह कीर्तिमान रचा था। वह 2018 में रिटायर होने तक अमेरिकी सेना की उत्तरी कमान की प्रमुख थीं। अमेरिकी मिलिट्री में सबसे बड़ी रैंक चार स्टार जनरल की है। इसे वायुसेना की जनरल जैकलीन ओवोस्ट हासिल कर चुकी हैं।

जैकलीन 2020 में रक्षा विभाग में इकलौती चार स्टार महिला जनरल बनीं और अमेरिकी वायु सेना के इतिहास में ऐसी पांचवी महिला। उनका नाम ट्रांसपोर्टेशन कमांड प्रमुख के तौर पर दिया गया है। इसी तरह, तीन स्टार जनरल लॉरा रिचर्डसन का नाम दक्षिण कमान की प्रमुख के लिए प्रस्तावित किया गया है।
ट्रम्प के डर से नामाें की घाेषणा में हुई देरी : रिपाेर्ट
अमेरिकी रक्षा मुख्यालय ‘पेंटागन’ ने पिछले साल ही लॉरा और जैकलीन का नाम तय कर लिया था। लेकिन उनके नाम भेजने में देर होती रही। इसका कारण पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का डर बताया जा रहा है। अमेरिका के पूर्व डिफेंस सचिव मार्क एस्पर को डर था कि ट्रम्प लॉरा और जैकलीन के नाम पर मंजूरी नहीं देंगे। क्योंकि दोनों महिलाएं हैं। हालांकि जाे बाइडेन ने अंतत: पांच मार्च काे दाेनाें नाम सीनेट काे भेज दिए।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here