• Hindi News
  • International
  • Infection In Brazil, Deaths By A Quarter To A Quarter Less Than India, 70% More; Both Doses Of Vaccine To 55% Of Population In Israel, 40% Restaurants theater Open

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

इजरायल के प्रधानमंत्री बेन्जामिन नेतन्याहू यरूशलम के मेयर के साथ पब्लिक कैफे में कॉफी पीने पहुंचे।

  • कोरोना से 2.68 लाख मौतें के साथ अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर

कोरोना महामारी से सबसे बुरी तरह से प्रभावित देशों की सूची में ब्राजील इस समय सबसे ऊपर चल रहा है। बुधवार को पिछले 24 घंटे में एक दिन में देश में सबसे ज्यादा मौतें (1954 मौतें) दर्ज हुईं हैं। अगर भारत और ब्राजील की तुलना की जाए तो आंकड़े चौंकाने वाले हैं।

वर्तमान में भारत में कोरोना के कुल संक्रमित 1 करोड़ 11 लाख 25 हजार 17 हैं और ब्राजील में 1 करोड़ 12 लाख 62 हजार 707 हैं। यानी ब्राजील में कुल संक्रमण भारत की तुलना में 1.24 फीसदी कम है। दूसरी तरफ, ब्राजील में कोरोना से कुल 2.68 लाख और भारत से 1.58 लाख मौतें हो चुकी हैं। यानी ब्राजील में मौतें भारत से लगभग 70 फीसदी ज्यादा हैं।

पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा मौतें दर्ज।

पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा मौतें दर्ज।

विशेषज्ञों का मानना है कि ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो का कोरोना को लेकर लापरवाह रुख आज देश को इस मुश्किल हालात में ले आया है। संक्रमण की शुरुआत से ही वे गैरजिम्मेदाराना बयान और निर्णय लेते रहे हैं। न वहां सही समय पर मास्क अनिवार्य किया गया और न ही प्रतिबंध लगाए गए। बोल्सोनारो ने सुरक्षात्मक उपायों को लेकर भी गंभीरता नहीं दिखाई। ट्रम्प की तरह उन्होंने भी विशेषज्ञों की सलाह को नहीं माना।

80% से ज्यादा आईसीयू भरे
ब्राजील के शीर्ष हेल्थ इंस्टीट्यूट फियोक्रूज ने चेतावनी दी है कि कोरोना की वजह से देश का स्वास्थ्य सिस्टम ध्वस्त होने की कगार पर है। फियोक्रूज के मुताबिक ब्राजील के 27 राज्यों की 25 राजधानियों की आईसीयू 80 फीसदी से ज्यादा भर गए हैं। दो बड़े शहरों पोर्टो अलेग्रे और कम्पो ग्रेन्डे में आईसीयू ओवरलोड हो हैं। संस्था ने कहा कि वर्तमान समय में ब्राजील मानवता के लिए एक खतरा बन गया है।

मात्र 4% आबाादी को वैक्सीन लगी
ब्राजील ने एस्ट्राजेनेका और कोरोना वैक वैक्सीन के 20 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है। लेकिन अभी तक मात्र 4% आबादी को वैक्सीन लगा पाया है। वहीं, सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका 30% से ज्यादा आबादी को वैक्सीन की पहली डोज दे चुका है और औसतन प्रतिदिन 20 लाख डोज लगा रहा है।

इजराइल में आधी आबादी को वैक्सीन लगने के बाद पटरी पर लौट रही जिंदगी

90.5 लाख की आबादी वाला इजरायल अपनी 55% आबादी को कोरोना वैक्सीन लगा चुका है। इसके तहत जिन इलाकों में वैक्सीनेशन के दोनों चरण पूरे हो चुके हैं, वहां सभी सार्वजनिक स्थल खुलने लगे हैं। बुधवार तक देश के करीब 40 फीसदी पब्लिक प्लेस खुलने लगे। खास बात यह है कि पाबंदियों के बीच सूने पड़े शहर गुलजार होने लगे हैं।

लोग अपने परिवार और दोस्तों के साथ रेस्तरां, थियेटर और सिनेमा हॉल पहुंचने लगे हैं। हालांकि, कुछ लोगों में अब भी डर है, जिसे दूर करने के लिए इजरायल के प्रधानमंत्री बेन्जामिन नेतन्याहू यरूशलम के मेयर के साथ पब्लिक कैफे में कॉफी पीने पहुंचे।

इस दौरान उन्होंने लोगों से बातचीत की और लोगों को सुरक्षित रखने का वादा किया। रिपोर्ट के मुताबिक, लोगों के सार्वजनिक स्थलों पर प्रवेश के लिए वैक्सीन पासपोर्ट ले जाना अनिवार्य है। हालांकि, लोग खुद के सुरक्षित रखने के लिए मास्क पहनकर निकल रहे हैं। रेस्तरां और थियेटर सैनिटाइज किए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here