Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

12 घंटे पहले

चीन की संसद में शुक्रवार से सालाना बैठक शुरू हुई। यह एक हफ्ते चलेगी। बैठक में देशभर के 5000 सांसद और प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। इसमें कोरोना महामारी के साथ-साथ भारत से लेकर अमेरिका तक बढ़ते गतिरोध सहित कई अहम मुद्दों पर चर्चा होगी।

चीन ने चौतरफा बढ़ते तनाव के बीच 2021 के लिए सालाना रक्षा बजट को अनुमान से भी ज्यादा (6.8%) बढ़ा दिया है। यह 14.60 लाख करोड़ रुपए से बढ़कर 15.26 लाख करोड़ रुपए हो गया है। चीन ने लगातार छठे साल अपना रक्षा बजट बढ़ाया है।

यह भारत के सालाना रक्षा बजट से 69% ज्यादा है। बजट को लेकर चीन की सत्तारूढ़ पार्टी नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) के प्रवक्ता झांग येसुई ने कहा- “बजट राष्ट्रीय रक्षा की मजबूती के लिए बढ़ाया गया है। इसका प्रयास किसी भी देश को निशाना बनाना नहीं है।’ दूसरी तरफ, चीन ने महामारी के बीच इस साल के लिए अपना जीडीपी ग्रोथ का टारगेट 6 फीसदी से ऊपर रखा है।

हॉन्गकॉन्ग में अब चीन भक्त ही लड़ सकेंगे चुनाव
चीन की सत्तारूढ़ पार्टी के नेता येसुई ने बताया कि चीन सरकार हॉन्गकॉन्ग की चुनाव प्रक्रिया को नए सिरे से तैयार कर रही है। जिससे यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि इस क्षेत्र में सिर्फ चीन के प्रति वफादार लोग ही चुनाव लड़ सकें। इस नई व्यवस्था के लिए सरकारी एजेंसी बनाई जाएगी, जो चुनाव लड़ने वाले हर उम्मीदवार की जांच करेगी।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here