राहुल शनिवार को 3 दिन के तमिलनाडु दौरे पर पहुंचे। उन्होंने एक इवेंट में कहा कि कांग्रेस सिर्फ 10-15 सीटें जीतती है तो यह उल्टा नुकसान होगा, क्योंकि भाजपा लोगों को खरीद लेती है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी शनिवार को तीन दिन के चुनावी दौरे पर तमिलनाडु पहुंचे। उन्होंने तूतीकोरीन के VOC कॉलेज के इवेंट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा और RSS पर निशाना साधा। इस दौरान राहुल का कई राज्यों में कांग्रेस की सरकारें गिरने का दर्द और डर भी सामने आया।

राहुल ने कहा, ‘कांग्रेस को मजबूती से टिकने के लिए दो तिहाई बहुमत से जीतना होगा। अगर 10-15 सीटें जीतते हैं तो यह जीत नहीं बल्कि पार्टी का नुकसान होगा, क्योंकि भाजपा लोगों (विधायकों) को खरीद लेती है। हम इस स्थिति का सामना कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में हमने यही देखा। राजस्थान में भी कोशिश की गई। झारखंड में कोशिश की जा रही है। राहुल ने कहा कि मध्यप्रदेश और राजस्थान में हमारे विधायकों को मोटी रकम के ऑफर के बारे में जानकारी थी।’

राहुल बोले- मैं ईमानदार हूं, इसलिए भाजपा दबाव नहीं बना पाती
कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मैं अपने पूरे राजनीतिक करियर में ईमानदार रहा, इसलिए ED और CBI मुझे छू भी नहीं सकते। यही वजह है कि भाजपा मुझ पर दिन-रात हमले करती रहती है। उन्हें मेरी ईमानदारी के बारे में पता है, इसलिए मुझ पर दबाव नहीं बना पाते।’

‘सरकार की मर्जी के फैसले देने वाले जजों को ऊंचे पद मिले’
कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि पिछले 6 सालों में भाजपा और RSS ने ज्यूडिशियरी समेत सभी संस्थानों को निशाने पर लिया या उनमें घुसपैठ की। राहुल ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि कई ऐसे उदाहरण सामने आए हैं कि सरकार की मर्जी के फैसले देने वाले जजों को ऊंचे पद दिए गए।

‘प्रधानमंत्री चीन से डरे हुए हैं’
राहुल ने चीन के मुद्दे पर पर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। राहुल ने आरोप लगाया कि वे मोदी चीन से डरे हुए हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि चीन की घुसपैठ पर मोदी की पहली प्रतिक्रिया यह थी कि भारत में किसी ने घुसपैठ नहीं की। इससे चीन को इशारा मिला कि भारत के प्रधानमंत्री उससे डरे हुए हैं। चीन इसे समझ गया और उसने सौदेबाजी शुरू कर दी।

 

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here