कोरोना वाइरस से लड़ने के लिए भारत मे टिकाकरन अभियान गति पकड़ है।अभी टीके देश भर मे एक करोड़ से अधिक स्वास्थ्यकर्मी व अन्य फ़्रंटलाइन कार्यकर्ताओ को टीका लगाया जा चुका है ।

दूसरा चरण शुरू होने वाला है. जिसके लिए सरकार ने सभी  घोषणाये केआर दी है शुरुआती दौर मे उन सभी लोगो को दवाए दी जाएगी जो 45 साल से अधिक और 60 वर्ष से कम है तथा किसी न किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे है। इसकी शुरुआत एक मार्च से होगी।

बुधवार को केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को एक मीटिंग मे जानकारी देते हौए कहा कि टीका मुफ्त मे ही लगाया जाएगा और इसकी सुविधा जल्द ही गैर सरकारी अस्पतालो मे भी शुरू कि जाएगी। दूसरे चरण मे अनुमानित 10 करोड़ लोगो को टीका लगाया जाएगा।

 दूसरे चरण में क्या है?

टीकाकरण अभियान भारत मे 16 जनवरी, 2021 को शुरू हुआ। सरकार का लक्ष्य जुलाई तक सरकार का लक्ष्य 30 मिलियन लोगों को टीका प्रदान करना है

कोरोना टीकाकरण धीरे-धीरे किया जाता है। पहले चरण में, यानी स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिक्स और स्वास्थ्य संबंधी लोगों को टीका दिया गया है।

स्वास्थ्य श्रमिकों और फ्रंटलाइन श्रमिकों के पहले चरण में टीका प्रक्रिया अलग-अलग थी। फिर टीका प्राप्त करने के लिए को-विन( CO-WIN ) एप्लिकेशन पर पंजीकरण नहीं करना होता था।

सरकार ने स्वास्थ्य श्रमिकों और फ्रंटलाइन श्रमिकों पर डेटा पहले से मोजूद था और उन्हें संदेश के माध्यम से तिथि और टीकाकरण केंद्र के बारे में जानकारी दी गई थी। उनके पास कोई तिथि या स्थान चुनने का विकल्प नहीं था।

यह दूसरे चरण में बदल जाएगा। अब आपको कोरोना टीका प्राप्त करने के लिए पहले ऑन-विन एप्लिकेशन पर पंजीकरण करना होगा। इस एप्लिकेशन में जीपीएस सुविधाएं भी होंगी, इसलिए लोग अपनी सुविधा पर तिथियां और स्थान चुन सकते हैं।

हालांकि, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि टीकाकरण केंद्र में कितने स्लॉट उपलब्ध हैं। साथ ही, लोगों को यह भी पता चलेगा कि निकटतम टीकाकरण केंद्र कोनसा है, चाहे वह सरकारी हो या निजी।

 पंजीकरण की प्रक्रिया

जब आप कोविन  ऐप में पंजीकरण करेंगे तो आपको मतदाता सूची और मूल डेटा के आधार पर पहचाना जाएगा जो पहले से ही आवेदन में मौजूद हैं। यदि आप अपने संबंधित आयु में पाए जाते हैं, तो आप प्रक्रिया को आगे पूरा करने में सक्षम होंगे।

यदि आपका डेटा सरकार के रिकॉर्ड से मेल नहीं खाता है, तो आप प्रक्रिया को आगे पूरा करने में सक्षम नहीं होंगे। ऐसी परिस्थितियों में, आपको टीकाकरण केंद्र में जाना चाहिए और आवेदन में खुद को पंजीकृत करना होगा। इसके लिए, आपको एक पहचान पत्र लेना चाहिए ताकि आपके आयु वर्ग का पता लगाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here