सोमवार को CBI ने ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक की साली से भी पूछताछ की। (फाइल फोटो)

कोयला घोटाले मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बहू रुजिरा बनर्जी से CBI आज पूछताछ करेगी। रुजिरा को CBI ने सोमवार को ही बुलाया था, लेकिन उन्होंने अफसरों को पत्र लिखकर एक दिन की मोहलत मांगी थी। रुजिरा ममता के भतीजे अभिषेक की पत्नी हैं। अभिषेक की साली मेनका गंभीर से भी CBI ने सोमवार को करीब तीन घंटे पूछताछ की थी। इस मामले में अभिषेक के कई करीबी दोस्त CBI के शिकंजे में हैं।

CBI कार्रवाई पर TMC आगबबूला
अभिषेक बनर्जी के करीबियों के घर और दफ्तर में छापेमारी से तृणमूल कांग्रेस के नेता आगबबूला हैं। नेताओं ने आरोप लगाया कि BJP बंगाल चुनाव में दबाव बनाने के लिए CBI का सहारा ले रही है। TMC सांसद सौगत रॉय ने कहा कि भाजपा के साथ कोई सहयोगी नहीं है। CBI और ED ही उनके सहयोगी हैं। अपने इन्हीं सहयोगियों की मदद से वे अन्य पार्टियों को धमकाते हैं और तृणमूल पर दबाव बनाते हैं। हमारे नेताओं को जो भी नोटिस दिया गया है, उसका कानूनी तरीके से मुकाबला करेंगे।

भाजपा ने कहा, गलत काम करने वाले ही डरते हैं
TMC के आरोपों पर BJP ने पलटवार किया है। BJP पश्चिम बंगाल के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि CBI ने इस मामले की जांच काफी पहले शुरू कर दी थी। नोटिस भेजना और पूछताछ कोई पहली बार नहीं हो रही है। CBI कानून के दायरे में रहते हुए काम कर रही है। TMC के लोग इसलिए डर रहे हैं क्योंकि उन्होंने गलत किया है। जो लोग गलत काम करते हैं वही डरते हैं।

शुक्रवार को 13 ठिकानों पर छापेमारी की थी
इसी मामले में CBI ने शुक्रवार को राज्य के पुरुलिया, बांकुरा, बर्दवान और कोलकाता में 13 जगहों पर छापेमारी की थी। ये छापेमारी युवा तृणमूल कांग्रेस के नेता विनय मिश्रा, व्यवसायी अमित सिंह और नीरज सिंह के ठिकानों पर हुई थी। छापे के दौरान कोई भी घर पर मौजूद नहीं था। इसके पहले 11 जनवरी को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने हुगली, कोलकाता, उत्तर 24 परगना, आसनसोल, दुर्गापुर, बर्धमान में छापेमारी की थी।

TMC नेताओं पर ही लगे हैं आरोप
कोयला घोटाले में TMC के नेताओं पर आरोप लगे हैं। इसमें अभिषेक का नाम भी शामिल है। आरोप है कि बंगाल में अवैध रूप से कई हजार करोड़ के कोयले का खनन किया गया और एक रैकेट के जरिए इसे ब्लैक मार्केट में बेचा गया। इस मामले में दिसंबर के शुरुआती हफ्तों में भी CBI ने कोलकाता के CA गणेश बगारिया के दफ्तर में छापा मारा था।

सितंबर में जांच शुरू हुई; कोर्ट ने CBI को मंजूरी दी
पिछले साल सितंबर में कोयला घोटाले की जांच शुरू हुई। तब से BJP इसके लिए TMC पर लगातार आरोप लगा रही है। BJP नेताओं का कहना है कि कोयला घोटाले से मिली ब्लैक मनी को TMC के नेताओं ने शेल कंपनियों के जरिए व्हाइट मनी में बदला। इसमें सबसे ज्यादा फायदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को हुआ है।

अभिषेक बनर्जी TMC की युवा विंग के अध्यक्ष हैं। उन्होंने अपनी पार्टी में विनय मिश्रा समेत 15 युवाओं को महासचिव बनाया था। विनय मिश्रा शुरू से ही कोयला घोटाले के आरोपी हैं। TMC ने CBI जांच पर रोक लगाने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसे कोर्ट ने नामंजूर कर दिया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here