हमले में मारी गईं महिलाएं सबावून पाकिस्तानी चैरिटी नाम की संस्था चलाती थीं। संस्था महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ने का काम करती है।

पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान में सोमवार को बदमाशों ने चलती कार पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। इस घटना में कार सवार 4 महिला NGO वर्कर्स की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद पाकिस्तान के लोगों ने सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ गुस्सा जताया और हमलावरों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।

चारों कार्यकर्ता महिला अधिकार के लिए काम करती थीं
हमले में मारी गईं महिलाएं सबावून पाकिस्तानी चैरिटी नाम की संस्था चलाती थीं। यह संस्था महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ने के साथ ही कुटीर उद्योग के जरिए उन्हें रोजगार मुहैया करवाने का काम करती है। चारों महिलाएं संस्था के काम से ही बन्नू से मीर अली जा रही थी।

महिलाओं के आने की पहले से थी जानकारी
मीर अली इलाके की पुलिस के मुताबिक, हमलावरों को महिलाओं के आने की पहले से जानकारी थी। हमलावर उन्हीं को मारने आए थे। माना जा रहा है कि वारदात के बाद वे पास के पहाड़ों में भाग गए। अब तक किसी भी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। पुलिस का अनुमान है कि यह पाकिस्तानी तालिबान आतंकियों की करतूत हो सकती है। यह अफगान तालिबान से एक अलग विद्रोही गुट है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here