किसानों का आरोप है कि बालियान के समर्थकों ने लाठी-डंडों से गांव के लोगों को पीटा है। एक घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता भी की। किसानों ने बालियान और उनके समर्थकों की गिरफ्तारी की मांग की है।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में सोमवार को किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। इसमें कई किसान घायल हो गए। घटना के बाद सैकड़ों किसानों ने थाना घेर लिया। राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने घटना की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की हैं, जिनमें लोगों को काफी चोटें लगी हुई हैं। चौधरी ने कहा कि भाजपा किसानों के पक्ष की बात न करे, पर उनकी इज्जत तो करे।

ग्रामीणों का आरोप- बलियान समर्थकों ने महिलाओं से अभद्रता की
घटना शाहपुर के शोरम गांव में हुई। यहां केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान अपने समर्थकों के साथ एक कार्यक्रम में आए थे। यहां जय जवान-जय किसान और भाजपा विरोधी नारे लगाए गए। इसके बाद किसान और भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों ओर से हुई पत्थरबाजी में कई लोग घायल हुए हैं। इनमें किसान भी शामिल हैं।

किसानों का आरोप है कि बालियान के समर्थकों ने लाठी-डंडों से गांव के लोगों को पीटा है। एक घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता भी की। घटना के बाद किसानों ने पंचायत बुलाई। इसके बाद सैकड़ों ग्रामीणों ने थाना घेर लिया। ग्रामीणों ने पुलिस से बालियान और उनके समर्थकों की गिरफ्तारी की मांग की है।

जयंत चौधरी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक फोटो शेयर की है। तस्वीर में दिख रहे युवक को उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से हुई झड़प में घायल किसान बताया है।

जयंत चौधरी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक फोटो शेयर की है। तस्वीर में दिख रहे युवक को उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से हुई झड़प में घायल किसान बताया है।

आंदोलन से जुड़ी 7 और अहम जानकारियां

1. लालकिला हिंसा का एक और आरोपी अरेस्ट
26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान लालकिले पर हुई हिंसा के सिलसिले में पुलिस ने एक और गिरफ्तारी की है। दिल्ली पुलिस ने सोमवार को जसप्रीत सिंह को गिरफ्तार किया है। उस पर हिंसा के दौरान लाल किले के गुम्बद पर चढ़ने का आरोप है। इस दौरान उसने स्टील की रॉड उठा रखी थी।

इससे पहले किसान नेताओं ने दावा किया था कि 26 जनवरी के ट्रैक्टर मार्च में शामिल 16 किसान अब भी लापता हैं। जबकि, करीब 122 किसानों को गिरफ्तार किया जा चुका है। किसान नेताओं ने मामले की सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज से जांच कराने की मांग भी की थी।

पुलिस ने लाल किला हिंसा के आरोपियों की फोटो जारी की हैं। इनमें जसप्रीत की फोटो भी है। पुलिस के मुताबिक, वह दिल्ली का रहने वाला है।

पुलिस ने लाल किला हिंसा के आरोपियों की फोटो जारी की हैं। इनमें जसप्रीत की फोटो भी है। पुलिस के मुताबिक, वह दिल्ली का रहने वाला है।

2. किसान नेता 26 फरवरी को ग्लोबल वेबिनार करेंगे
कृषि कानूनों को लेकर किसान संगठन 26 फरवरी को ग्लोबल लाइव वेबिनार करेंगे। यह शुक्रवार सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक होगा। इसमें दुनियाभर के किसान नेता शामिल हो रहे हैं। वेबिनार में ‘तीन कृषि कानूनों का किसानों पर असर’ विषय पर चर्चा होगी।

किसान एकता मोर्चा के ट्विटर हैंडल पर कार्यक्रम की पूरी जानकारी शेयर की गई है। वेबिनार के लिए कैलिफोर्निया, न्यूयॉर्क, मेलबर्न और ब्रिटेन का समय भी शेयर किया गया है। वेबिनार में आम लोग भी सवाल पूछ सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए लिंक भी जारी की गई है।

3. मथुरा की महापंचायत में जाएंगी प्रियंका गांधी
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के मथुरा में मंगलवार को किसान महापंचायत में जाएंगी। महापंचायत मथुरा के पालीखेड़ा में होनी है, जो जाट बाहुल्य इलाका माना जाता है। यह पंचायत वरिष्ठ कांग्रेस नेता कैप्टन सतीश शर्मा के निधन के चलते टाल दी गई थी।

4. मध्यप्रदेश में 8 मार्च को रैली करेंगे टिकैत
किसान कानूनों के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत 8 मार्च को मध्यप्रदेश में रैली करेंगे। इस दौरान वे 3 जिलों श्योपुर, रीवा और देवास जाएंगे और किसानों को संबोधित करेंगे। मध्यप्रदेश BKU के जनरल सेक्रेटरी अनिल यादव ने इसकी पुष्टि की है।

इधर, मध्य प्रदेश के अनूपपुर में राकेश टिकैत के खिलाफ एक वारंट भी पेंडिंग है। 2012 में यहां एक पावर प्लांट के खिलाफ हुए प्रदर्शन में टिकैत शामिल हुए थे। इस दौरान भड़की हिंसा में कई पुलिसकर्मी घायल हुए थे। टिकैत समेत 100 लोग गिरफ्तार किए गए थे। कुछ दिनों बाद टिकैत को जमानत मिल गई थी। उन्हें 2016 में कोर्ट में हाजिर होना था, लेकिन वे नहीं आए। इसके बाद उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ था।

5. केरल: ट्रैक्टर रैली में शामिल हुए राहुल
केरल दौरे पर आए कांग्रेस नेता राहुल गांधी कालीपेट्टा पहुंचे। वे किसानों के प्रति एकजुटता जताने के लिए ट्रैक्टर रैली में पहुंचे और ट्रैक्टर भी चलाया। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार पर दबाव नहीं बनाएंगे, तब तक तीनों नए कृषि कानून वापस नहीं लिए जाएंगे। इसकी वजह है, और वो ये कि ये कानून भारत के एग्रीकल्चर सिस्टम को तबाह करने के लिए बनाए गए हैं।

6. आंदोलन के लिए नई रणनीति बनाई गई
आंदोलन को और तेज करने के लिए किसानों ने इस हफ्ते नई रणनीति तैयार की है। संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) के मुताबिक, किसान पगड़ी संभाल दिवस, दमन विरोधी दिवस, युवा किसान दिवस और मजदूर किसान एकता दिवस मनाएंगे। ये कार्यक्रम 23 से 27 फरवरी तक आयोजित किए जाएंगे।

7. टीकरी-सिंघु बॉर्डर पर गर्मियों की तैयारी
टीकरी और सिंघु पर प्रदर्शन कर रहे किसान कड़ाके की ठंड झेलने के बाद अब गर्मियों के मौसम को देखते हुए तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने टेंट्स में पंखे लगवाने शुरू कर दिए हैं। साथ ही टेंट की ऊंचाई बढ़ाकर उसके अंदर एक और टेंट लगा रहे हैं, ताकि गर्मी से बच सकें। इसके साथ ही धरनास्थलों पर AC लगी ट्रॉलियां भी नजर आ रही हैं। किसान नेता राकेश टिकैत कह चुके हैं कि आंदोलन कम से कम अक्टूबर तक चलेगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here