क्राउली ने इंग्लैंड की ओर से अब तक 10 टेस्ट खेले हैं। इसमें उन्होंने 38.5 की औसत से 616 रन बनाए हैं। उनका हाईएस्ट स्कोर 267 रन का रहा, जो उन्होंने अगस्त, 2020 में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था। (फाइल फोटो)

अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में 24 फरवरी से होने वाले तीसरे डे-नाइट टेस्ट को लेकर इंग्लैंड ने माइंडगेम शुरू कर दिया है। इंग्लिश टीम के टॉप ऑर्डर बैट्समैन जैक क्राउली ने कहा है कि टीम इंडिया की पेस अटैक अच्छी है। इसके बावजूद उनकी टीम का पलड़ा पिंक बॉल टेस्ट में भारी होगा। उन्होंने कहा कि पेस फ्रेंडली कंडिशन में इंग्लिश टीम हमेशा अच्छा खेलती है।

वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) के लिहाज से अगले 2 टेस्ट भारत के लिए अहम होने वाले हैं। टीम को WTC फाइनल में पहुंचने के लिए अगले दो में से 1 जीतना और 1 ड्रॉ कराना होगा। फिलहाल सीरीज 1-1 की बराबरी पर है।

पेस फ्रेंडली कंडिशन में इंग्लैंड का पलड़ा भारी
ब्रिटिश मीडिया से बातचीत करते हुए क्राउली ने कहा कि मुझे लगता है कि यह टेस्ट हम ही जीतेंगे। हम पेस फ्रेंडली कंडिशन में ही पले बढ़े हैं। इन कंडिशन में इंग्लिश बल्लेबाज बॉल को लेट खेलने में माहिर होते हैं। इसलिए हम भारतीयों से ज्यादा इसमें ढल जाते हैं। भारतीय टीम स्पिन को अच्छे से खेल सकती है, क्योंकि खिलाड़ी वैसे माहौल में पले बढ़े होते हैं।

शुरुआती 2 टेस्ट में रिस्ट इंजरी की वजह से नहीं खेल पाए
क्राउली ने कहा कि उन्हें अच्छी तरह से मालूम है कि इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज की मौजूदगी में यह टेस्ट इतना भी आसान नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पिंक बॉल काफी स्विंग होती है, इसके बावजूद स्पिनर्स तीसरे टेस्ट में अहम भूमिका निभाएंगे। क्राउली पहले 2 टेस्ट में चोट की वजह से नहीं खेल पाए थे। वे टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले चेपक ड्रेसिंग रूम के फ्लोर पर फिसल गए थे और उनकी रिस्ट में चोट आई थी।

डे-नाइट टेस्ट को लेकर पॉजिटिव हैं जैक क्राउली
क्राउली, हालांकि, अब चोट से उबर चुके हैं और तीसरे टेस्ट के लिए इंग्लैंड टीम में शामिल भी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मैं नेट्स में बैटिंग कर रहा हूं। अपने आप को ज्यादा से ज्यादा फिट करने की कोशिश कर रहा हूं। चोट लगना शर्मनाक था, क्योंकि इसकी वजह से मैंने 2 टेस्ट मिस किया। मैं दूसरे टेस्ट के लिए मेहनत कर रहा था, लेकिन फिट नहीं हो सका। अब मैं मोटेरा में होने वाले तीसरे टेस्ट को लेकर पॉजिटिव हूं।

क्राउली भारत के खिलाफ नंबर-3 पर बल्लेबाजी करना चाहते हैं
क्राउली ने श्रीलंका के खिलाफ 2-0 की सीरीज जीत में इंग्लिश टीम के लिए ओपनिंग की थी। हालांकि, वे भारत के खिलाफ तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे ओपनिंग करने में कोई परेशानी नहीं है। टीम मुझे जो कहेगी, मैं वह रोल निभाऊंगा, लेकिन पहली पसंद नंबर-3 ही है।’

श्रीलंका के खिलाफ 4 पारियों में 35 रन ही बना पाए थे
श्रीलंका के खिलाफ ओपनिंग करते हुए क्राउली को बाएं हाथ के स्पिनर लासिथ एम्बुलडेनिया ने काफी परेशान किया था। लासिथ ने दोनों टेस्ट की 4 पारियों में उन्हें आउट किया था। श्रीलंका दौरे पर वह केवल 8.75 की औसत से 35 रन बना पाए थे। क्राउली ने कहा कि पिछले दौरे से काफी कुछ सीखने को मिला। मैंने सीखा कि मुझे अपनी बल्लेबाजी में थोड़ा धार लाने की जरूरत है। मैं स्पिन के खिलाफ जैसे खेलता हूं, आगे भी वैसा ही खेलूंगा।

पहला टेस्ट इंग्लैंड और दूसरा टेस्ट भारत ने जीता था
​​​​​​​इंग्लैंड टीम ने चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट में 227 रन से जीत हासिल की थी। वहीं, दूसरे टेस्ट में भारत ने इंग्लिश टीम को 317 रन से हराया था। यह टीम इंडिया की इंग्लैंड पर 89 साल के क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी जीत थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here