प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रोहित शर्मा।BCCI ने यह वीडियो शेयर किया। रोहित ने इंग्लैंड के खिलाफ अब तक 2 टेस्ट में 51.25 की औसत से 205 रन बनाए हैं। इसमें 1 शतक शामिल है। दूसरे टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 161 रन बनाए थे

भारतीय ओपनर रोहित शर्मा ने कहा है कि मोटेरा में पिचें स्पिनर्स को मदद कर सकती हैं। उन्होंने एक्सपर्ट्स को पिचों को लेकर बयानबाजी छोड़ गेम पर ध्यान देने को भी कहा। रोहित ने कहा कि दोनों टीमों के लिए पिच एक जैसी होती है। मुझे नहीं पता लोग इसे मुद्दा क्यों बना लेते हैं। कई सालों से भारत में ऐसी ही पिचें देखने को मिलती रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘जब हम विदेश जाते हैं, तब कोई पेसर्स फ्रेंडली विकेट को लेकर क्यों कुछ नहीं बोलता। होम और अवे (विदेशी धरती) का यही फायदा होता है। हम अपने मुताबिक पिचें बनाते हैं। अगर किसी को दिक्कत है, तो वह इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) में इसको लेकर नियम बनाने कह सकता है, ताकि हर जगह एक जैसी पिच मिले।’

सोमवार को प्रैक्टिस सेशन में लाइट्स पर फोकस होगा
रोहित ने कहा कि दूसरे टेस्ट की तरह पहले दिन से ही स्पिनर्स को फायदा मिलेगा। डे-नाइट टेस्ट में थोड़ी मुश्किल होती है, लेकिन टीम इंडिया इसके मुताबिक ढल जाएगी। सोमवार को प्रैक्टिस सेशन में लाइट्स और सीट्स पर हमारा फोकस होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि नई सीटों में शाइनिंग होती है। स्लिप में कैच और आउटफील्ड कैचिंग की भी प्रैक्टिस की जाएगी।

1-1 की बराबरी पर है भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज
भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट (डे-नाइट) की शुरुआत 24 फरवरी से होगी। फिलहाल सीरीज 1-1 से बराबरी पर है। भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए अगले 2 में से एक टेस्ट जीतना जरूरी है। वहीं, अगले टेस्ट को कम से कम ड्रॉ कराना होगा। रोहित ने इस पर कहा कि हमें प्रोसेस पर ध्यान देना चाहिए और आगे का नहीं सोचना चाहिए।

टीम इंडिया का फोकस वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप पर
रोहित ने कहा कि अगर आप ज्यादा सोचते हैं, तो खुद को प्रेशर में ढकेल देते हैं। इसलिए वर्तमान में रहने पर प्रेशर नहीं होता। टेस्ट 5 दिन का खेल है और इसमें हर सेशन में अलग-अलग टीमों पर दबाव बढ़ता है। अगर छोटी-छोटी चीजों पर ध्यान दें, तो रिजल्ट आपके पक्ष में ही होगा। हम WTC फाइनल के लिए क्वालिफाई करना चाहते हैं। हमारे सामने 2 टेस्ट हैं और हमारा पूरा फोकस उसी पर है।

रोहित सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों में दूसरे नंबर पर
रोहित ने इस सीरीज में अब तक 2 टेस्ट में 51.25 की औसत से 205 रन बनाए हैं। इसमें 1 शतक शामिल है। वे इंग्लिश कप्तान जो रूट के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। रोहित ने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 161 रन बनाए थे। रूट ने अब तक 4 पारियों में 74.25 की औसत से 297 रन बनाए हैं। इसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here