पूरे अमेरिका में लगभग 50% बुजुर्गों ने कहीं न कहीं घूमने का प्लान बना लिया है, क्योंकि उन्हें वैक्सीन मिल चुकी है।

डलास (टेक्सास) के रहने वाले 69 साल के जिम और उनकी पत्नी चेरेल ड्रायर (72) ने कोरोना महामारी के चलते सभी ट्रेवल प्लान कैंसिल कर दिए थे और घर में रहने को मजबूर थे। लेकिन हाल ही में दोनों को कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक मिल गई है।

मार्च तक उनकी एंटीबॉडी बन जाएगी। इसके बाद दोनों लंबे टूर पर जाना चाहते हैं। यह एक उदाहरण नहीं है। पूरे अमेरिका में लगभग 50% बुजुर्गों ने कहीं न कहीं घूमने का प्लान बना लिया है, क्योंकि उन्हें वैक्सीन मिल चुकी है। दरअसल, अमेरिका में हेल्थ वर्कर्स के साथ सबसे पहले बुजुर्गों को ही वैक्सीन दी गई है।

दूसरी खुराक मिल जाने के अब वे बीते एक साल में मिले तनाव से मुक्ति के लिए लंबे वेकेशन पर जाना चाहते हैं। इसकी पुष्टि होटलों, क्रूज और टूर ऑपरेटर्स ने भी की है। उनके मुताबिक, बुजुर्गों ने बड़ी संख्या में बुकिंग कराई है। 65 साल से ऊपर के अमेरिकी पूरी तरह यात्रा के लिए तैयार हैं। ये तब है, जब उनके बच्चे और नाती-पोतों को अभी भी वैक्सीन के लिए इंतजार करना पड़ रहा है।

ट्रेवल एजेंसी विरटूसो के जनवरी में हुए सर्वे के मुताबिक, बुजुर्ग 2021 के सबसे बड़े पर्यटक बनेंगे। वहीं कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जेफ गलक का कहना है कि बुजुर्गों ने काफी तनाव झेला है। लेकिन वैक्सीन लगने के बाद खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं, उनमें जीने की इच्छा प्रबल हो रही है। ये वाकई अच्छा संदेश है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here