दिसंबर 2020 में कृषि मजदूरों के लिए खुदरा महंगाई दर (CPI-AL) 3.25% और ग्रामीण मजदूरों के लिए यह दर (CPI-RL) 3.34% थी - Dainik Bhaskar

दिसंबर 2020 में कृषि मजदूरों के लिए खुदरा महंगाई दर (CPI-AL) 3.25% और ग्रामीण मजदूरों के लिए यह दर (CPI-RL) 3.34% थी

  • दाल, प्याज, आलू, फूल गोभी और बैगन की कीमत घटने के कारण महंगाई दर घटी है
  • खुदरा खाद्य महंगाई दर कृषि मजदूरों के लिए 1.02% और ग्रामीण मजदूरों के लिए 1.22% रही

कृषि और ग्रामीण मजदूरों के लिए खुदरा महंगाई दर में कुछ गिरावट आई है। जनवरी 2021 में यह घटकर कृषि मजदूरों के लिए 2.17% और ग्रामीण मजदूरों के लिए 2.35% रही। दाल, प्याज, आलू, फूल गोभी और बैगन की कीमत घटने के कारण महंगाई दर घटी है।

दिसंबर 2020 में कृषि मजदूरों के लिए खुदरा महंगाई दर (CPI-AL) 3.25% और ग्रामीण मजदूरों के लिए यह दर (CPI-RL) 3.34% थी। श्रम मंत्रालय ने कहा कि जनवरी 2021 में कृषि मजदूरों के लिए खुदरा खाद्य महंगाई दर 1.02% और ग्रामीण मजदूरों के लिए खुदरा खाद्य महंगाई दर 1.22% रही।

गांवों में काम करने वाले लाखों मजदूरों को राहत मिलेगी

श्रम ब्यूरो महानिदेशक डीपीएस नेगी ने सरकारी बयान में कहा कि महंगाई कम होने से गांवों में काम करने वाले लाखों मजदूरों को राहत मिलेगी। कृषि मजदूरों और ग्रामीण मजदूरों के लिए खुदरा मूल्य सूचकांक में सबसे ज्यादा गिरावट बिहार और पश्चिम बंगाल में आई। दूसरी ओर इंडेक्स में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी केरल में दर्ज की गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here