डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के मोदी सरकार पर निशाना साधने के बाद बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी ने राहुल गांधी पर किसानों को भड़काने का आरोप लगाया। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा की राहुल गांधी हुड़दंगियों को रिहा करने की अपील कर रहे हैं। राहुल गांधी चाहते हैं गोली चले और सड़को पर लाशें बिछ जाए। उन्होंने कहा, किसानों की लाशों पर राजनीति करने वाले बीजेपी को घेर रहे हैं। संबित पात्रा ने सवाल किया, क्या उपद्रवी राहुल के अपने हैं?

संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी ने फिर से किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने की कोशिश की और साथ ही साथ हमने देखा कि किसानों के माध्यम से लोगों को भड़काने का काम भी किया। पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी और रिहाना दोनों को कृषि के बारे में कुछ भी मालूम नहीं है। दोनों लोगों को रबी की फसल के बारे में नहीं मालूम और ये कृषि कानून पर बात कर रहे हैं।

पात्रा ने सवाल किया कि जब कैलिफोर्निया में महात्मा गांधी की प्रतिमा को तोड़ा गया तो ये लोग कहां थे? उस समय इनमें से किसी ने भी ट्वीट किया? संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी ने धमकाया कि कोई पीछे नहीं हटेगा, बातचीत में हम विश्वास नहीं रखते हैं। ये तो किसानों का आंदोलन है और किसानों ने कहा है कि उनका किसी राजनीतिक पार्टी से कोई सरोकार नहीं है। फिर राहुल गांधी उनके पैरोकार क्यों बन रहे हैं?

संबित पात्रा ने कहा कि 26 जनवरी को लाल किला पर हुई घटना में उपद्रव हुआ था तो राहुल गांधी समेत तमाम कांग्रेस नेताओं ने कहा था कि ये भाजपा के कार्यकर्ता हैं। जब ये हुड़दंगी गिरफ्तार हो रहे हैं तो कह रहे हैं कि इनको रिहा किया जाए। आपको क्यों इतनी पीड़ा हो रही है, इसका मतलब है कि ये आप ही के लोग थे।

बता दें कि राहुल गांधी ने बुधवार को दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस संबोधित करते हुए कहा था, क्या सरकार किसान से डरती है। किसानों को धमकाना सरकार का काम नहीं है। सरकार किलाबंदी क्यों कर रही है। उन्होंने कहा कि किसान हिन्दुस्तान की शक्ति है, उसे दबाना, धमकाना, मारना सरकार का काम नहीं है। सरकार का काम किसान से बात करके इस समस्या का समाधान करना है। मैं किसानों को बहुत अच्छे से जानता हूं, ये पीछे हटने वाले नहीं हैं। सरकार को ही पीछे हटना होगा। फायदा है सबका कि आज हट जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here