भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे सिडनी टेस्ट को पिंक टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल 2005 में ग्लेन मैक्ग्रा और उनकी पत्नी जेन ने ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरुकता लाने के लिए मैक्ग्रा फाउंडेशन की स्थापना की थी। जेन को ब्रेस्ट कैंसर था। तीन साल बाद 2008 में जेन का निधन हो गया। इसके बाद ब्रेस्ट कैंसर के प्रति लोगों में जागरूकता के लिए सिडनी में पिंक टेस्ट कराया जाने लगा।

मंगलवार को वर्चुअल पिंक सीट्स लॉन्च किया गया था। ताकि दर्शक टिकट खरीद कर कैंसर जागरुकता अभियान से जुड़ सके और फाउंडेशन की मदद कर सके।अब तक वर्चुअल पिंक सीट्स के 70 हजार टिकट बिक चुके हैं। इससे मिलने वाला पैसा मैक्ग्रा बेस्ट केयर नर्सेज को जाएगा। वर्चुअल पिंक सीट्स से 1 मिलियन ऑस्ट्रेलियन डॉलर(करीब 5.65 करोड़ रुपए) जुटाने की योजना है

##

सिडनी टेस्ट के तीसरे दिन को जेन मैक्ग्रा डे के नाम से भी जाना जाता है

सिडनी ग्लेन मैक्ग्रा का होम ग्राउंड है। टेस्ट के तीसरे दिन को जेन मैक्ग्रा डे' के नाम से भी जाना जाता है। जेन के बेस्ट कैंसर के जागरुकता अभियान को स्पोर्ट करने के लिए दर्शक गुलाबी रंग के कपड़े पहनकर आते हैं। वहीं खिलाड़ियों के ड्रेस पर भी पिंक में लोगो रहता है। साथ ही विकेट भी पिंक होता है। इस मैच से आने वाले पैसे को मैक्ग्रा बेस्ट केयर नर्सेज को दिया जाता है।

सिडनी में प्रति दिन 9,500 दर्शक ही मैच देख सकेंगे

कोरोना की वजह से सिडनी टेस्ट में 25% दर्शकों को ही एंट्री है। यानी 38 हजार दर्शकों की क्षमता वाले सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में सिर्फ 9,500 को हर रोज एंट्री मिल सकेगी।

ऑस्ट्रेलिया और इंडिया सीरीज में बराबरी पर

चार टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 की बराबरी पर है। ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड में भारत को 8 विकेट से हराया था। जबकि मेलबर्न में खेले गए दूसरे मैच में टीम इंडिया को जीत मिली है। वहीं तीसरा टेस्ट सिडनी में खेला जा रहा है। जबकि चौथ टेस्ट मैच 15 जनवरी से ब्रिस्बेन में खेला जाना है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

पिंक सीट़स लॉन्च के दौरान मैक्ग्रा फाउंडनेशन के सदस्य और ग्लेन मैक्ग्रा। इससे मिलने वाले पैसे को मैक्ग्रा बेस्ट केयर नर्सेज को जाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here