एयर इंडिया की महिला पायलटों की टीम इतिहास रचने जा रही है। यह टीम नॉर्थ पोल के ऊपर से दुनिया के सबसे लंबे रूट पर उड़ान भरेगी। फ्लाइट सैन फ्रांसिस्को से 16 हजार किलोमीटर का सफर तय कर 9 जनवरी को बेंगलुरु पहुंचेगी। इस टीम की कमान कैप्टन जोया अग्रवाल संभालेंगी।

एयर इंडिया अधिकारियों ने बताया कि नॉर्थ पोल के ऊपर उड़ान भरना काफी चुनौतियों से भरा हुआ टास्क है। एयरलाइन कंपनी ने इसके लिए अपने सबसे अच्छे और अनुभवी पायलटों को भेजा है। इस बार एयर इंडिया ने जर्नी के लिए यह जिम्मेदारी एक महिला कैप्टन को सौंपी है।

बोइंग 777 को कमांड करेंगी जोया
कैप्टन जोया ने बताया कि दुनिया में कई सारे लोग हैं, जिन्होंने कभी नॉर्थ पोल नहीं देखा। कई तो ऐसे हैं, जिन्होंने इसे मैप पर भी नहीं देखा होगा। मैं बहुत ही गौरवांवित महसूस कर रही हूं कि सिविल एविएशन मिनिस्ट्री और एयरलाइन ने मुझ पर भरोसा दिखाया। नॉर्थ पोल के ऊपर बोइंग 777 को कमांड करना मेरे लिए किसी सुनहरे मौके से कम नहीं है। उन्होंने बताया कि मेरी टीम बहुत ही बेसब्री से इतिहास रचने का इंतजार कर रही है।

यह सपना पूरा होने जैसा : जोया
उन्होंने कहा कि मुझे मेरी अनुभवी महिला टीम पर भी नाज है। मेरी टीम में कैप्टन तन्मई पपगिरी, आकांक्षा सोनावणे और शिवानी मनहास शामिल हैं। ऐसा पहली बार होगा, जब महिलाओं की टीम नॉर्थ पोल के ऊपर से फ्लाई करेगी। ऐसा करना किसी भी प्रोफेशनल पायलट के लिए सपना पूरा होने जैसा है।
उन्होंने कहा कि वास्तव में यह काफी रोमांचक होगा, जब आप नॉर्थ पोल गुजर रहे होंगे और कम्पास 180 डिग्री तक फ्लिप हो जाएगा।

बोइंग-777 को उड़ाने वाली सबसे युवा महिला पायलट हैं जोया
जोया बोइंग-777 को उड़ाने वाली सबसे युवा महिला पायलट भी हैं। यह कीर्तिमान उन्होंने 2013 में बनाया था। उन्होंने कहा कि महिलाओं को खुद पर भरोसा रखना चाहिए, भले ही उन्हें सामाजिक दबाव का ही सामना क्यों न करना पड़े। किसी भी काम को असंभव नहीं मानता चाहिए।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु आने वाली फ्लाइट को कैप्टन जोया अग्रवाल कमांड करेंगी। जोया बोइंग-777 को उड़ाने वाली सबसे युवा महिला पायलट भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here